सोमवार, जनवरी 25, 2021
होम Government schemes Kisan Rail: किसानों तक पहुँचने के लिए ‘किसान रेल’ सेवाओं का विस्तार...

Kisan Rail: किसानों तक पहुँचने के लिए ‘किसान रेल’ सेवाओं का विस्तार केंद्रीय बजट 2021 में किया जा सकता है

किसान रेल ’योजना ने कई किसानों को लाभान्वित किया है और सरकार वित्तीय वर्ष 2021-22 में इस योजना का विस्तार करना चाहती है

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल अगस्त में Nar किसान रेल ’योजना की घोषणा की और कहा कि इससे कई लोगों को फायदा होगा क्योंकि उन्हें शहरी क्षेत्रों में भी अपनी उपज बेचने के लिए मिलेगा। केंद्रीय बजट 2021 में, सरकार ने चल रही Budget किसान रेल ’योजना के विस्तार की घोषणा की है।

इससे किसान कल्याण को और बढ़ावा मिलेगा और ‘किसान की आय दोगुनी करने’ मिशन को प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Bonus in Railways: आज शाम तक हो सकती बोनस की घोषणा, प्रत्येक कर्मचारी को 18 हजार मिलने की उम्मीद

रेल मंत्रालय वित्तीय वर्ष 2021-2022 में कई किसानों तक विस्तार और पहुंच बनाने की कोशिश कर रहा है।

- Advertisement -

किसान I किसन रेल ’का लाभ उठा सकते हैं, जिसमें माल और रेलगाड़ियों में प्रशीतित डिब्बे शामिल हैं, जो लंबी दूरी पर उपज का परिवहन करने के लिए सुविधाजनक बनाते हैं।

वे देश भर में 50 प्रतिशत तक अधिसूचित फलों और सब्जियों को रियायती दरों पर परिवहन कर सकते हैं। उन्हें अपनी उपज की बिक्री पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी भी मिलेगी।

- Advertisement -

इन सुविधाओं के साथ, किसान अपनी उपज को सामान्य दरों से कम पर भी बेच सकते हैं और अधिक से अधिक कमा सकते हैं और अपने फल और सब्जियों के बहुमत को बेच सकते हैं।

किसानों के विरोध के बीच पीएम मोदी ने महाराष्ट्र के 100 वें किसान रेल को हरी झंडी दिखाई

किसान रेल ‘गेम चेंजर रही है और पूरे देश में कृषि उत्पादों का तेजी से परिवहन सुनिश्चित कर रही है। यह नाशपाती उत्पादन की निर्बाध आपूर्ति श्रृंखला प्रदान करता है।

7 अगस्त, 2020 को देवलाली से दानापुर तक पहली an किसान रेल ’की शुरुआत की गई।

महाराष्ट्र में संगोला से पश्चिम बंगाल के शालीमार तक 100 वीं 100 किसान रेल ’को 28 दिसंबर 2020 को हरी झंडी दिखाई गई।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments