Wednesday, November 30, 2022
HomeFestivalBe Alert! दीपावली पर पटाखों का धुआं अस्थमा रोगियों के लिए होगा...

Be Alert! दीपावली पर पटाखों का धुआं अस्थमा रोगियों के लिए होगा हानिकारक, इसप्रकार करें बचाव

What Precautions Can take in Asthma: दीपावली में होने वाले प्रदूषण से सबसे ज्‍यादा परेशान अस्‍थमा से जूझ रहे लोग होते हैं. WHO की रिपोर्ट के अनुसार, दीपावली के बाद भारत में लगभग 38 प्रतिशत अस्‍थमा के मरीजों की संख्‍या में इजाफा होता है. दीपावली पर पटाखों का धुआं अस्थमा रोगियों के लिए होगा हानिकारक, इसप्रकार करें बचाव, आइये जानते है उपाय करने के तरीके

Read Also: Big News! Facebook ने ले लिया है बड़ा फैसला, यूजर हो जायें अलर्ट नहीं तो…..

What Precautions Can take In Asthma: दीपावली का त्‍योहार हर किसी के लिए खुशियां लेकर आता है. किसी को बोनस मिलने की खुशी होती है तो किसी को घर सजाने में खुशी मिलती है, लेकिन वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो दीपावली के नजदीक आते ही प्रदूषण और धुएं से डरने लगते हैं. जी हां, दीपावली में होने वाले प्रदूषण से सबसे ज्‍यादा परेशान अस्‍थमा से जूझ रहे लोग होते हैं. WHO की रिपोर्ट के अनुसार, दीपावली के बाद भारत में लगभग 38 प्रतिशत अस्‍थमा के पेशेंट्स की संख्‍या में इजाफा होता है.

सांस लेने में परेशानी और गले में इंफेक्‍शन की समस्‍या हो सकती है

पटाखों से होने वाले धुएं से खांसी, सांस लेने में परेशानी और गले में इंफेक्‍शन की समस्‍या हो सकती है. बाहर ही नहीं, बल्कि घर के अंदर भी धुएं और घुटन का अहसास होता है. अस्‍थमा एक ऐसी स्थिति है, जिसमें मरीज की सांस नली में सूजन आ जाती है, जिससे सांस सं‍बंधी समस्‍या आने लगती है. धुएं और प्रदूषण से बचने के लिए अस्‍थमा पेशेंट्स को खास देखभाल की आवश्‍यकता होती है. यदि घर में किसी को अस्‍थमा की समस्‍या है तो ऐसे करें उनका प्रदूषण से बचाव.

Read Also: Face Beauty Tips: महंगे फेस वॉश से नहीं बल्कि किचन में रखी इन चीजो का इस्तेमाल करके आप बन जाएँगे खूबसूरत personality के मालिक

हमेशा पास रखें इनहेलर

कंट्रोलर इनहेलर अस्‍थमा का दौरा पड़ने की संभावना को कम कर सकता है. ब्रेथफ्री डॉट कॉम के अनुसार, दीपावली के दौरान या बाद में भी अस्‍थमा पेशेंट्स को अपने साथ हमेशा इनहेलर रखना चाहिए. दिवाली के समय हवा में कई ऐसे केमिकल्‍स और डस्‍ट पार्टिकल होते हैं, जिससे अस्‍थमा का अटैक आ सकता है. ऐसे में इनहेलर के प्रयोग से जल्‍द लक्षणों पर काबू पाया जा सकता है.

घर में ही रहें

दीपावली के दौरान पटाखों के धुएं से खुद को बचाने के लिए जितना हो सके घर से बाहर निकलने से बचें. धुएं में सांस लेना अस्‍थमा को ट्रिगर कर सकता है. दीवाली के दौरान यदि घर के बाहर निकलें तो मुंह में कपड़ा या मास्‍क लगा लें ताकि अधिक धुएं से बचा जा सके. खासकर शाम के वक्‍त घर से बाहर न जाएं.

Read Also: White hair problem: क्या एक बार सफेद होने के बाद फिर से काले हो सकते हैं बाल? अपनाये ये तरीका कुछ ही दिनों में काले हो जायेंगे बाल

खुद को रखें अलग

दिवाली से पहले लोगों के लिए घरों की सफाई करना आम बात है, लेकिन इस सफाई से भी धूल के कण पैदा हो सकते हैं, जिस वजह से सांस लेने में परेशानी का अनुभव कर सकते हैं. जब ऐसे कण सांस द्वारा सांस नली में जाते हैं तो अस्‍थमा का अटैक आ सकता है. इसमें छींकने, खांसी और घबराहट जैसे लक्षण हो सकते हैं. धूल से बचने के लिए खुद को एक कमरे में बंद कर लें और सफाई हो जाने के बाद बाहर आएं.

इन चीजों का करें सेवन

दीपावली के समय पेट को बिल्‍कुल भी खाली न रखें. खासकर अस्‍थमा के मरीजों को गर्माहट देने वाली चीजों का सेवन करना चाहिए. जितनी बार भी पानी पीएं तो वो हल्‍का गुनगुना होना चाहिए. इसके अलावा सूप का सेवन लाभदायक हो सकता है. अधिक मीठा और चिकना खाने से परहेज करें. अधिक तेल वाला खाने के बाद गर्म पानी का सेवन जरूर करें.

Read Also: White Hair Treatment: केवल गुड़ के साथ खाएं ये चीज, सफेद बालों की समस्या से जल्द ही मिल जाएगा छुटकारा

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments