Sunday, January 29, 2023
HomeNewsBig News! कोहली के छक्के देख…,’ भारत-पाकिस्तान मैच को याद कर थर्राए...

Big News! कोहली के छक्के देख…,’ भारत-पाकिस्तान मैच को याद कर थर्राए हारिस रऊफ बोले…

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज Haris Rauf ने कहा- जिस तरह से Virat Kohli विश्व कप में खेले, वह उनका क्लास है। हम सभी जानते हैं कि वह किस प्रकार के शॉट खेलते हैं।

भारत-पाकिस्तान के बीच टी 20 वर्ल्ड कप 2022 में खेला गया मुकाबला दोनों देशों के क्रिकेटर्स के साथ ही करोड़ों दर्शकों के जहन में ताजा है। इस मैच में पाकिस्तान के 160 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया के दोनों ओपनर सस्ते में आउट हो गए थे।

कप्तान रोहित शर्मा 4 और केएल राहुल 4 रन बनाकर पवेलियन लौटे तो तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए विराट कोहली ने टीम इंडिया को जीत दिलाने की जिम्मेदारी उठाई। कोहली ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की और 53 गेंदों में 6 चौके-4 छक्के ठोक नाबाद 82 रन कूटे और टीम इंडिया को जीत दिलाकर लौटे। हार्दिक पांड्या ने 40 रन बनाए थे। कोहली ने 19वें ओवर में हारिस रऊफ की आखिरी दो गेंदों पर दो छक्के जड़ दिए थे। अब पाकिस्तान के इस गेंदबाज ने उस मैच को याद कर बड़ा बयान दिया है।

अगर कार्तिक और पांड्या छक्के मारते तो दुख होता

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हारिस रऊफ ने कहा- जिस तरह से कोहली विश्व कप में खेले, वह उनका क्लास है। हम सभी जानते हैं कि वह किस प्रकार के शॉट खेलते हैं। जिस तरह से वह उन छक्कों को मारते हैं, मुझे नहीं लगता कि कोई अन्य खिलाड़ी इस तरह का शॉट मार सकता है। रऊफ ने आगे कहा- अगर दिनेश कार्तिक और हार्दिक पांड्या ने उन छक्कों को मारा होता, तो मुझे दुख होता, लेकिन वह कोहली के बल्ले से निकला। वह पूरी तरह से एक अलग क्लास है। रऊफ ने बताया कि कैसे उन गेंदों में गेंदबाजी करने में उनकी रणनीति बेहतर थी, लेकिन कोहली का शॉट एक क्लास एक्ट था क्योंकि इसका उनके पास कोई जवाब नहीं बचा था।

मेरा प्लान और एग्जीक्यूशन ठीक था

उन्होंने कहा- “देखिए भारत को आखिरी 12 गेंदों में 31 रनों की जरूरत थी। मैंने चार गेंदों पर केवल तीन रन दिए थे। मुझे पता था कि नवाज आखिरी ओवर फेंक रहे थे, वह एक स्पिनर हैं और मैंने उनके लिए कम से कम चार बड़ी बाउंड्री छोड़ने की कोशिश की थी।” चूंकि आठ गेंदों पर 28 रन की जरूरत थी, तो मैंने तीन धीमी गेंदें फेंकी और वह धोखा खा गया। मैंने चार में से केवल एक तेज गेंद फेंकी थी। “मुझे इस बात का अंदाजा नहीं था कि वह मुझे उस लंबाई से जमीन पर मार सकता है। इसलिए जब उसने वह शॉट मारा, तो वह उसकी क्लास थी। मेरा प्लान और एग्जीक्यूशन ठीक था, लेकिन वह शॉट अलग क्लास का था।”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments