Wednesday, December 7, 2022
HomeJobsBumper Naukri: बेरोजगारों के लिए बड़ी खुशखबरी, भारत सरकार के इस विभाग...

Bumper Naukri: बेरोजगारों के लिए बड़ी खुशखबरी, भारत सरकार के इस विभाग में एजेंट बनने का सुनहरा मौका, ये है आवदेन करने का तरीका

Bumper Naukri: उम्मीदवार जो भी भारत सरकार के इंडियन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑफिस (Indian Intellectual Property Office) में एजेंट बनना चाहते हैं, वे दिए गए इन सभी आवश्यक बातों को ध्यान से अवश्य पढ़ें.आपको बता दें बेरोजगारों के लिए बड़ी खुशखबरी आयी है , भारत सरकार के इस विभाग में एजेंट बनने का सुनहरा मौका, ये है आवदेन करने का तरीका तो आइये जानते है कैसे कर सकते है आवेदन

Intellectual Property Recruitment: रोजगार (Jobs) की तलाश में भटक रहे पढ़े लिखे युवाओं के लिए सुनहरा अवसर है. इसके (Intellectual Property Recruitment) लिए CGPDTM ने इंडियन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑफिस ने ट्रेडमार्क एजेंटों (Trade Marks Agent) के लिए बहाली निकाली है. उम्मीदवार जो भी इस विभाग के जरिए ट्रेडमार्क एजेंट बनना चाहते हैं, वे Intellectual Property की आधिकारिक वेबसाइट ipindia.gov.in पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं. CGPDTM ने 10 साल के अंतराल के बाद इन एजेंटों के लिए बहाली निकाली है.

इसके अलावा ट्रेडमार्क एजेंटों (Trade Marks Agent) के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होने के बाद उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://ipindia.gov.in/index.htm पर क्लिक करके भी अप्लाई कर सकते हैं. साथ ही इस लिंक https://ipindia.gov.in/writereaddata/Portal/News के जरिए नोटिफिकेशन को भी चेक कर सकते हैं. कंट्रोलर जनरल ऑफ पेटेंट्स, डिजाइन एंड ट्रेड मार्क्स (CGPDTM) ने कहा कि जो उम्मीदवार ट्रेडमार्क और पेटेंट एजेंट परीक्षा 2023 में शामिल होने के इच्छुक हैं, वे नियमानुसार अपनी योग्यता की जांच कर सकते हैं.

Intellectual Property Recruitment के लिए महत्वपूर्ण तिथियां

  • ऑनलाइन आवेदन शुरुआत करने की तिथि- जनवरी 2023
  • परीक्षा आयोजित होनी की तिथि- 07 मई 2023

पेटेंट, डिजाइन और ट्रेड मार्क महानियंत्रक के कार्यालय ने घोषणा की है कि ट्रेड मार्क एजेंट परीक्षा 2023 (Trade Marks Agent Exam 2023) और पेटेंट एजेंट परीक्षा 2023 (Patent Agent Exam 2023) 7 मई, 2023 को आयोजित होने की संभावना है. महानियंत्रक पेटेंट अधिनियम, 1970, डिजाइन अधिनियम, 2000 और ट्रेड मार्क अधिनियम, 1999 के कार्यकरण का पर्यवेक्षण करता है और इन विषयों से संबंधित मामलों पर सरकार को सलाह भी देता है.

ट्रेडमार्क कानून का उद्देश्य देश में आवेदन किए गए ट्रेडमार्क को पंजीकृत करना और माल और सेवाओं के लिए ट्रेडमार्क की बेहतर सुरक्षा प्रदान करना और मार्क के धोखाधड़ी वाले उपयोग को रोकना भी है. इन एजेंटों की प्राथमिक भूमिका आवेदकों को पेटेंट, ट्रेडमार्क और डिजाइन जैसी इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी के पंजीकरण के लिए आवेदन फाइल करने में मदद करना है.

 

Relationship Best Tips|| अगर आप भी पहली बार जा रहें है डेट पर तो इन बातों का रखें जरुर ध्यान

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments