...
Saturday, March 25, 2023
HomeNewsGood news for Team india: न्यूजीलैंड का जीतना और इंग्लैंड का हारना...

Good news for Team india: न्यूजीलैंड का जीतना और इंग्लैंड का हारना टीम इंडिया के लिए साबित हुआ रामबाण, जानिए क्या है World Test Championship Points Table में टीम इंडिया की पोजीसन

World Test Championship Points Table : भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज खेली जा रही है। इस वक्त पूरी दुनिया की नजरें इसी सीरीज पर हैं, क्योंकि इसी से तय होगा कि इस साल जून में होने वाले आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप यानी डब्यूटीसी में कौन सी दो टीमें होंगी, जो फाइनल में एक दूसरे से मुकाबला करेंगी।

इस बीच दूसरी ओर इंग्लैंड और न्यूजीलैंड में भी टेस्ट सीरीज चल रही थी, जो अब समाप्त हो गई है। टी20 और वनडे में तो रोमांच रहता ही है, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में ऐसा बहुत कम होता है कि मैच की आखिरी गेंद तक पता न चले कि कौन सी टीम भारी पड़ रही है। यही कारण रहा कि लगातार विजय रथ पर सवार इंग्लैंड की टीम को न्यूजीलैंड ने रोमांचक टेस्ट मैच में एक रन से हरा दिया।

स्टीव स्मिथ ने अश्विन-जडेजा को लेकर कही चौंकाने वाली बात, जानकर फैंस बोले- इतना डरते हो तो खलेने क्यों आ जाते हो

इस टेस्ट की रोचकता के बारे में आप इसी से जान सकते हैं कि टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ये केवल दूसरी बार हुआ है, जब टेस्ट में जीत हार का अंतर केवल एक ही रन रहा हो। इस मैच के बारे में आपको आगे कुछ और रोचक जानकारी देंगे, लेकिन इससे पहले ये जान लीजिए कि न्यूजीलैंड बनाम इंग्लैंड टेस्ट के बाद डब्ल्यूटीसी की प्वाइंट्स टेबल पर क्या असर पड़ा है। क्या टीम इंडिया को इस जीत हार से कुछ फर्क पड़ेगा या नहीं।

डब्ल्यूटीसी की लेटेस्ट अंक तालिका में ऑस्ट्रेलिया नंबर वन, टीम इंडिया दूसरे स्थान पर

आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की प्वाइंट्स टेबल पर नजर डालें तो हम पाते हैं कि भारत से लगातार दो मैच हराने के बाद भी ऑस्ट्रेलियाई टीम का नंबर एक की कुर्सी पर कब्जा है। टीम के पास इस वक्त भी 136 अंक हैं और जीत प्रतिशत 66.67 फीसद है। जीत प्रतिशत ही इसमें सबसे अहम होता है।

इसे भी पढ़ें – Good news for CSK: एमएस धोनी का ये जिगरी दोस्त आईपीएल 2023 का पूरा सीजन खेलेगा, एमएस धोनी ने कर दिया साफ

ऑस्ट्रेलिया नंबर वन

ऑस्ट्रेलिया के बाद दूसरे नंबर पर टीम इंडिया है, जिसके अंक है 123, वहीं जीत प्रतिशत 64.06 हो गया है। वैसे तो भारत का जीत प्रतिशत कम था और एक वक्त टीम नंबर चार पर भी चली गई थी, लेकिन पहले भारत ने दो मैचों में बांग्लादेश को हराया और उसके बाद ऑस्ट्रेलिया को दो मैचों में ​बुरी तरह से पीटा।

तीसरे नंबर पर श्रीलंका की टीम है।

तीसरे नंबर पर श्रीलंका की टीम है। जो अब तक 64 अंक आर्जित कर चुकी है और उसका जीत प्रतिशत 53.33 है। यही वो तीन टीमें हैं, जो फाइनल में जाने की दावेदार हैं। खासतौर पर भारत और ऑस्ट्रेलिया, लेकिन आंकड़ों में देखें तो किसी भी टीम की जगह अभी तक फाइनल के लिए पक्की नहीं हुई है।

दक्षिण अफ्रीका

इसलिए दक्षिण अफ्रीका को भी दावेदार माना जा रहा है। ये टीम अब तक 76 अंक हासिल कर चुकी है और जीत प्रतिशत 48.72 है। वहीं इंग्लैंड और न्यूजीलैंड फाइनल में जाने की दावेदार नहीं बची हैं। इंग्लैंड की टीम हालांकि पहले ही फाइनल से रेस से बाहर हो चुकी है, लेकिन इसके बाद टीम ने अच्छा खेल दिखाया।

न्यूजीलैंड

वहीं न्यूजीलैंड की बात करें तो ये टीम पिछले यानी साल 2021 में जो डब्ल्यूटीसी का फाइनल हुआ था, उसमें पहुंची थी और खिताब भी अपने नाम किया था। यानी न्यूजीलैंड की एक रन से जीत और इंग्लैंड की हार से टीम इंडिया की सेहत पर रत्ती भर भी असर नहीं पड़ा है।

इसे भी पढ़ें – IND vs AUS Indore 3rd Test: तीसरे टेस्ट के लिए कंगारू टीम हुई पूरी तरह चेंज, भारत के लिए खतरा बन सकती है नयी कंगारू टीम

भारतीय टीम अगर इंदौर में होने वाले तीसरे टेस्ट को भी जीत जाती है तो उसकी फाइनल में एंट्री हो जाएगी। लेकिन अब आपको इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के अंक और जीत प्रतिशत के बारे में भी बता देते हैं। इंग्लैंड की टीम इस वक्त 124 अंक लेकर नंबर पांच पर है और टीम की जीत का प्रतिशत 46.97 है। वहीं न्यूजीलैंड के पास 36 अंक हैं और जीत प्रतिशत की बात करें तो 27.27 है।

न्यूजीलैंड ने रोचक टेस्ट मैच में इंग्लैंड को एक रन से दी मात

अब जरा इस मैच के बारे में भी आपको हल्की सी जानकारी दे देते हैं। मैच में इंग्लैंड की टीम पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी और 87.1 ओवर में आठ विकेट पर 435 रन बनाकर अपनी पारी घोषित कर दी। इसके बाद बारी आई न्यूजीलैंड की, टीम पहली पारी में 53.2 ओवर में 209 रन ही बना सकी और आलआउट हो गई।

यानी न्यूजीलैंड को इंग्लैंड ने फालोआन दे दिया। टीम ने दूसरी बार बैटिंग करते हुए शानदार बल्लेबाजी की। दूसरी पारी में टीम ने 162.3 ओवर तक बल्लेबाजी की और 483 रनों का विशाल स्कोर टांग दिया। अब इंग्लैंड की टीम मुश्किल में आ चुकी थी। इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 258 रनों का लक्ष्य था, लेकिन टीम 74.2 ओवर में सभी विकेट खोकर 256 रन ही बना सकी।

यानी इंग्लैंड को एक रन से करीबी हार का सामना करना पड़ा। सीरीज में दो मैच थे, दोनों टीमों ने एक एक मैच जीत लिया और सीरीज बराबरी पर खत्म हो गई।

 

इसे भी पढ़ें – वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भारत के लिए ये तीन टीमें खतरा, भारत को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप से कर सकती हैं बाहर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments