Monday, September 26, 2022
HomeNewsMS Dhoni Marriage Anniversary: धोनी और साक्षी की शादी को पूरे हुए...

MS Dhoni Marriage Anniversary: धोनी और साक्षी की शादी को पूरे हुए 12 साल, बहुत ही दिलचस्प है दोनों की लवस्टोरी

MS Dhoni Marriage Anniversary: धोनी और साक्षी की शादी को पूरे हुए 12 साल, बहुत ही दिलचस्प है दोनों की लवस्टोरी
MS Dhoni Marriage Anniversary: धोनी और साक्षी की शादी को पूरे हुए 12 साल, बहुत ही दिलचस्प है दोनों की लवस्टोरी

MS Dhoni Marriage Anniversary: महेंद्र सिंह धोनी ने अपने शादी के 12 साल आज पूरे कर लिए हैं. धोनी आज के ही दिन साल 2010 में 4 जुलाई को साक्षी सिंह के साथ शादी के बंधन में बंधे थे.

MS Dhoni: महेंद्र सिंह धोनी ने अपने शांत और चतुर दिमाग से टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं. उनकी कप्तानी में भारत ने आईसीसी के तीनों खिताब जीते हैं. धोनी की गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर्स में होती है. वह चौंकाने वाले फैसले लेने के लिए फेमस हैं. आज के ही दिन (4 जुलाई 2010 को) महेंद्र सिंह धोनी ने साक्षी सिंह से शादी की थी. आज उनकी शादी के 12 साल पूरे हो गए हैं. उनकी लव स्टोरी काफी दिलचस्प रही है.

फैंस को देते हैं सरप्राइज

महेंद्र सिंह धोनी हमेशा से ही अपने चौंकाने वाले फैसले लेने के लिए फेमस रहे हैं. चाहें वो वर्ल्ड कप के फाइनल में ऊपर बैटिंग करने आना हो या फिर 15 अगस्त 2020 को क्रिकेट से रिटायरमेंट लेना हो. हर बार उन्होंने अपने फैंस को सरप्राइज दिया. कुछ ऐसा ही उनकी लव स्टोरी के साथ है. उन्होंने 4 जुलाई 2010 को साक्षी सिंह से शादी की थी. आज उनकी शादी को 12 साल पूरे हो रहे हैं.

लेकी लक का मिला साथ

साक्षी सिंह के साथ शादी करने के बाद महेंद्र सिंह धोनी के करियर में कई सफलताएं आई. धोनी की कप्तानी में ही भारत ने 2011 वर्ल्ड कप का खिताब जीता. वहीं, 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती. धोनी और साक्षी के परिवार एक-दूसरे को पहले से ही जानते थे. धोनी जब टीम इंडिया की तरफ से खेल रहे थे. तब वह उस होटल में रूके थे, जहां साक्षी इंटर्नशिप करती थीं. धोनी की एक बेटी भी है, जिसका नाम जीवा है.

टीम इंडिया को जिताए कई मैच

महेंद्र सिंह धोनी ने अपने दम पर टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं. वह भारत के सबसे सफल कप्तान हैं. उनकी कप्तानी में भारत ने 110 वनडे, 27 टेस्ट और 41 टी20 मैचों में जीत हासिल की थी. धोनी को डेथ ओवर्स में तेजी से रन बनाने जाना जाता है. अगर आखिरी ओवर में भारत को जीतने के लिए 15 रन चाहिए और क्रीज पर धोनी हैं, तो दबाव धोनी पर नहीं, गेंदबाज पर होता था.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments