Sunday, June 16, 2024
HomeNewsअब मात्र 150 रुपये में हवाई सफ़र का सपना होगा पूरा, इन...

अब मात्र 150 रुपये में हवाई सफ़र का सपना होगा पूरा, इन 22 रूटों पर सबसे सस्ता किराया

Cheapest Flight: हवाई सफर करना किसे पसंद नहीं होता, एक बार हवाई जहाज पर चढ़ने का सपना तो हर कोई देखता है. हालांकि, फ्लाइट टिकट महंगी होने की वजह से हर किसी के लिए हवाई सफर का आनंद लेना संभव नही हो पाता है. क्योंकि एक आम आदमी के लिए हजारों रुपये जोड़ना आसान बात नही है. यही वजह है कि वे फ्लाइट की जगह सफर के लिए किफायती साधन का सहारा लेते हैं. ऐसे में वो जैसे तैसे सफर तो तय कर लेते हैं लेकिन उनका हवाई जहाज पर बैठना तो ख्वाब बनकर ही रह जाता है. अगर हम आपको कहें कि आप केवल 150 रुपये में हवाई सफर कर सकते हैं तो आपको यकीन नहीं हो रहा होगा, लेकिन यह बिल्कुल सच है.

आज आपको हम एक ऐसे हवाई रूट के बारे में बताएंगे जिसमें आप सिर्फ 150 रुपये में अपना सपना पूरा कर सकते हैं. तो चलिए जानते हैं.

दो शहरों के बीच हवाई सफर मात्र 150 रुपये में

दरअसल, असम में लीला बाड़ी से तेजपुर तक का हवाई सफर करने पर आपको मूल हवाई किराये के रूप में सिर्फ 150 रुपये का भुगतान करना पड़ता है. इन दोनों शहरों के बीच हवाई सफर मात्र 50 मिनट में तय कर सकते है. सिर्फ इसी मार्ग पर नहीं, ऐसी कई उड़ानें हैं जहां टिकट (Cheap Air Tickets) का मूल किराया 1,000 रुपये से भी कम है. ये सभी क्षेत्रीय हवाई संपर्क योजना के तहत परिचालित होते हैं. यह एयरलाइन परिचालकों के लिए विभिन्न प्रोत्साहन प्रदान करता है.

इन 22 रूट पर 1000 रुपये से कम किराया

ट्रैवल पोर्टल ‘इक्सिगो’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, कम से कम 22 रूट हैं जहां मूल हवाई किराया 1,000 रुपये प्रति व्यक्ति से कम है. असम में लीलाबाड़ी और तेजपुर को जोड़ने वाली उड़ानों के लिए एक तरफ का किराया सबसे कम (Cheap Flight Ticekt Booking) 150 रुपये है. इस मार्ग पर उड़ानों का संचालन अलायंस एयर (Alliance Air) करती है.टिकट बुक करते समय मूल किराये में सुविधा शुल्क भी जोड़ा जाता है.

अधिकतर रूट पर किराया 150 रुपये से 199 रुपये

मोटे तौर पर, इन मार्गों पर क्षेत्रीय संपर्क योजना यानी रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम (RCS) के तहत परिचालित उड़ानों की अवधि लगभग 50 मिनट है.अधिकतर मार्ग जहां मूल हवाई किराया 150 रुपये से 199 रुपये प्रति व्यक्ति के बीच है, ये पूर्वोत्तर क्षेत्र में हैं. रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण में बेंगलुरु-सलेम, कोचीन-सलेम जैसे मार्ग भी हैं जहां मूल टिकट की कीमतें इस सीमा में हैं.

“गुवाहाटी और शिलॉन्ग से आने-जाने वाली उड़ानों के लिए मूल किराया 400 रुपये है. इम्फाल-आइजोल, दीमापुर-शिलॉन्ग और शिलॉन्ग-लीलाबाड़ी उड़ानों के लिए 500 रुपये, बेंगलुरु-सलेम उड़ान के लिए किराया 525 रुपये, गुवाहाटी-पासीघाट उड़ान के लिए किराया 999 रुपये है और लीलाबाड़ी-गुवाहाटी मार्ग के लिए यह 954 रुपये है. ”

एक अधिकारी ने कहा कि ये उन मार्गों में से हैं जहां मांग कम है और अन्य परिवहन माध्यमों से इन जगहों पर पांच घंटे से अधिक समय में पहुंचा जा सकता है. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के अनुसार, 31 मार्च, 2024 तक क्षेत्रीय संपर्क योजना यानी उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) के तहत 559 मार्गों को चिन्हित किया गया है.

इन उड़ानों के लिए कोई ‘लैंडिंग’ या ‘पार्किंग’ चार्ज नहीं

केंद्र सरकार, राज्य सरकारों और हवाईअड्डा परिचालक क्षेत्रीय उड़ान सेवा के तहत उड़ानों के लिए विभिन्न प्रोत्साहन देते हैं. अन्य बातों के अलावा, इन उड़ानों के लिए कोई ‘लैंडिंग’ या ‘पार्किंग’ टार्ज नहीं है. नागर विमानन मंत्रालय ने क्षेत्रीय हवाई संपर्क योजना को प्रोत्साहित करने तथा हवाई यात्रा को और अधिक किफायती बनाने के उद्देश्य से 21 अक्टूबर, 2016 को उड़ान सेवा शुरू की.

इसे भी पढ़ें –
Vinod Maurya
Vinod Maurya
Vinod Maurya has 2 years of experience in writing Finance Content, Entertainment news, Cricket and more. He has done B.Com in English. He loves to Play Sports and read books in free time. In case of any complain or feedback, please contact me @informalnewz@gmail.com
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments