Saturday, October 1, 2022
HomeNewsडॉलर के मुकाबले सबसे निचले स्तर पर पहुंचा गया रुपया, जानिए आपकी...

डॉलर के मुकाबले सबसे निचले स्तर पर पहुंचा गया रुपया, जानिए आपकी जेब पर इसका क्या इफेक्ट पड़ेगा

Rupee reaches lowest level against dollar, know what effect it will have on your pocket
Rupee reaches lowest level against dollar, know what effect it will have on your pocket

Rupee Slumps All Time Low
व‍िदेशी न‍िवेशकों की न‍िकासी और घरेलू शेयर बाजार में लगातार ग‍िरावट के बीच रुपया र‍िकॉर्ड न‍िचले स्‍तर पर आ चुका है. रुपये में ग‍िरावट का सीधा असर आम आदमी की जेब पर भी पड़ेगा. लेकिन कैसे आइये हम बताते है

Why Rupee Slumps All Time Low:

व‍िदेशी इनवेस्‍टर की लगातार न‍िकासी और घरेलू शेयर बाजार में ग‍िरावट आने से रुपया ग‍िरकर र‍िकॉर्ड स्‍तर पर पहुंच गया है. भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले अब तक के न‍िचले स्‍तर पर आ गया है. बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 19 पैसे लुढ़ककर 78.32 रुपये प्रति डॉलर के एक नये रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ. हालांक‍ि गुरुवार सुबह इसमें सुधार देखा गया और यह 78.24 रुपये प्रत‍ि डॉलर पर चल रहा है.

SBI Home Loan: SBI के करोड़ों ग्राहकों को लगा झटका, फ‍िर महंगा हुआ होम लोन; अब क‍ितनी सकती EMI

कच्चे तेल में गिरावट से रुपये का नुकसान हुआ सीमित

विदेशी मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि विदेश में डॉलर की मजबूती से भी रुपये की धारणा पर असर पड़ा. हालांकि, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट ने रुपये के नुकसान को सीमित किया. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार (Interbank Forex Exchange Market) में स्थानीय मुद्रा डॉलर के मुकाबले 78.13 पर सपाट खुली. इसने गुरुवार के कारोबार के दौरान 78.13 के ऊपरी और 78.40 के रिकॉर्ड निचले स्तर को देखा

बुधवार को 78.32 के र‍िकॉर्ड लेवल तक चढ़ गया डॉलर

रुपया अंत में अपने पिछले बंद भाव के मुकाबले 19 पैसे की गिरावट के साथ 78.32 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ. पिछले सत्र में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 78.13 पर बंद हुआ था. रेलिगेयर ब्रोकिंग के जिंस एवं करेंसी विभाग के उपाध्यक्ष, सुगंधा सचदेवा ने कहा, ‘घरेलू शेयरों से बेरोकटोक धन निकासी और डॉलर के मजबूत होने के बीच, कुछ समय के लिए 78 अंक के आसपास मंडराने के बाद, भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले एक नए रिकॉर्ड निचले स्तर तक चला गया.

फेड र‍िजर्व के ब्‍याज दर को बढ़ाने का हुआ असर

एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक विभाग के उपाध्यक्ष, जतिन त्रिवेदी ने कहा, ‘फेडरज रिजर्व के आक्रामक रुख और भारतीय बाजारों में विदेशी संस्थागत निवेशकों की आक्रामक बिक्री के कारण रुपया कमजोर होकर 78.30 से नीचे चला गया.’

आप पर कैसे पड़ सकता है असर? जानिए

रुपये के र‍िकॉर्ड न‍िचले स्‍तर पर जाने से आम आदम की जेब पर सीधा असर पड़ेगा. भारतीय मुद्रा में गिरावट का सबसे ज्यादा असर आयात पर दिखेगा. भारत में आयात होने वाली चीजों के दाम में बढ़ोतरी होगी. देश में 80 प्रत‍िशत कच्चा तेल आयात होता है, यानी इससे भारत को कच्चे तेल के लिए आधिक कीमत चुकानी पड़ेगी और विदेशी मुद्रा ज्यादा खर्च होगी. ऐसे में तेल की कीमतें और बढ़ सकती हैं.

 

मार्केट में Apple का बड़ा धमाका! iPhone 14 हो जायेगा मिनटों में फुल चार्ज, Leak हुए फीचर्स जानकर फैन्स बोले- ‘OMG…’

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments